corona की india मे बढ़ती रफ्तार आखिर कौन है जिम्मेदार


"नहीं चाहिए 20 Lakh Crore, बस जिंदा घर पहुंचा दो"




India
Confirmed
90,648
Recovered
34,224
Deaths
2,871


Worldwide
Confirmed
4.67M
Recovered
1.77M
Deaths
313K

एक घंटे में 250 लोगों की कोरोना जांच, टेस्टिंग किट से भी तेज कुत्ते!

एक घंटे में 250 लोगों की कोरोना जांच, टेस्टिंग किट से भी तेज कुत्ते!
कोरोना वायरस का सूंघकर पता लगाने वाले कुत्तों की ब्रिटेन में ट्रेनिंग पूरी हो चुकी है. अब मरीजों के कोरोना पॉजिटिव लक्षणों की पहचान के लिए जल्दी ही एक ट्रायल शुरू किया जाएगा, जिसके लिए सरकार करीब साढ़े चार करोड़ रुपये की धनराशि खर्च करेगी.

एक घंटे में 250 लोगों की कोरोना जांच, टेस्टिंग किट से भी तेज कुत्ते!
डेली मेल की एक रिपोर्ट के मुताबिक, कोविड-19 के लक्षणों की पहचान के लिए कुत्तों पर किए जाने वाले इस ट्रायल में कामयाबी मिली तो शोध की दुनिया में इसे एक ऐतिहासिक कदम माना जाएगा.

dog with mask searching corona patient



एक घंटे में 250 लोगों की कोरोना जांच, टेस्टिंग किट से भी तेज कुत्ते!
इस ट्रायल की कमान लंदन स्कूल ऑफ हाइजीन एंड ट्रॉपिकल मेडिसिन (एलएसएचटीएम), चैरिटी मेडिकल डिटेक्शन डॉग्स और डरहम यूनिवर्सिटी के अधिकारियों के हाथों में होगी. एलएसएचटीएम के प्रोफेसर जेम्स लोगन को इस ट्रायल से काफी ज्यादा उम्मीदें हैं.


एक घंटे में 250 लोगों की कोरोना जांच, टेस्टिंग किट से भी तेज कुत्ते!
शोधकर्ताओं ने रिपोर्ट में दावा किया है कि यदि ट्रायल में सफलता मिली तो कुत्ते एक घंटे में तकरीबन 250 लोगों में वायरस डिटेक्शन का काम कर पाएंगे. जिन रोगियों के शरीर में कोरोना के लक्षण नजर नहीं आते हैं, कुत्ते वहां भी अपना चमत्कार दिखा सकते हैं.


एक घंटे में 250 लोगों की कोरोना जांच, टेस्टिंग किट से भी तेज कुत्ते!
इस तरह देखा जाए तो कोरोना की पहचान करने में ये कुत्ते टेस्टिंग किट से भी कहीं ज्यादा तेज हो सकते हैं. लैब में कोरोना की एक टेस्टिंग में तकरीबन 5 से 6 घंटे का समय लगता है. बाकी प्रोसेस पूरे होने के बाद कई घंटों में इसकी रिपोर्ट मिलती है.



एक घंटे में 250 लोगों की कोरोना जांच, टेस्टिंग किट से भी तेज कुत्ते!
माना जाता है कि कुत्तों की नाक में इंसान की तुलना 10 हजार गुना ज्यादा तेज सूंघने की शक्ति होती है. लैब्राडोर्स और कूकर स्पैनियल्स जैसी कुत्तों की विशेष प्रजातियां पहले भी कैंसर, मलेरिया और पार्किंसन जैसी बीमारियों का इंसान के शरीर में पता लगाने का काम कर चुकी हैं.


एक घंटे में 250 लोगों की कोरोना जांच, टेस्टिंग किट से भी तेज कुत्ते!
डरहम विश्वविद्यालय के प्रोफेसर स्टीव लिंडसे ने बताया था कि कोरोना वायरस की बीमारी को फिर से उभरने से रोकने में कुत्ते काफी कारगर साबित हो सकते हैं. कुत्तों को डिटेक्शन के लिए उनकी तैनाती एयरपोर्ट जैसे संवेदनशील सार्वजनिक स्थानों पर की जाती है. कुत्ते ड्रग्स और विस्फोटकों को सूंघकर पता लगाने की क्षमता रखते हैं.

एक घंटे में 250 लोगों की कोरोना जांच, टेस्टिंग किट से भी तेज कुत्ते!
श्वास क्रियाओं से जुड़े कुछ रोग अपने दुर्गन्ध बदलने के लिए भी जाने जाते हैं, इसलिए इस ट्रायल में कुत्तों के सामने बड़ी चुनौती भी होगी. हालांकि कुत्ते की नाक से बच पाना वायरस के लिए भी आसान नहीं होगा.


एक घंटे में 250 लोगों की कोरोना जांच, टेस्टिंग किट से भी तेज कुत्ते!
शोध में बताया गया कि गंध को पहचानने में कुत्तों की नाक इतनी ज्यादा तेज होती है कि अगर आप ओलंपिक साइज स्विमिंग पूल में एक चम्मच चीनी भी घोल दें तो उसका भी पता ये कुत्ते बड़ी आसानी से लगा सकते हैं.


देश के 30 जिलों में सख्त लॉकडाउन रहेगा जारी, दिल्ली में छूट मिलने की संभावना कम

देश के 30 जिलों में लॉकडाउन की सख्ती जारी रह सकती है. ये वो इलाके हैं जहां कोरोना ने सबसे ज्यादा तबाही मचाई है. महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई, औरंगाबाद, पुणे, पालघर, सोलापुर, नासिक और ठाणे में सख्त लॉकडाउन रहेगा. देश की राजधानी दिल्ली को भी इसी श्रेणी में रखा गया है, जिसके बाद ये तय है कि यहां पर छूट मिलने की संभावना कम है.
30 जिलों में सख्त लॉकडाउन जारी रहेगा 30 जिलों में सख्त लॉकडाउन जारी रहेगा 


hospital in corona time

देश के 30 जिलों में जारी रहेगी लॉकडाउन की सख्तीराजधानी दिल्ली में भी छूट मिलने की संभावना है कम

कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए देश में लॉकडाउन का बढ़ना तय है. सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, देश के 30 जिलों में सख्त लॉकडाउन जारी रह सकता है. ये वो इलाके हैं जहां कोरोना ने सबसे ज्यादा तबाही मचाई है. महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई, औरंगाबाद, पुणे, पालघर, सोलापुर, नासिक और ठाणे में लॉकडाउन की सख्ती जारी रहेगी.

वहीं, तमिलनाडु की बात करें तो यहां के कुड्डालोर, चेंगलपट्टू, अरियालुर, विल्लुपुरम, तिरुवल्लूर और ग्रेटर चेन्नई जिलों में लॉकडाउन का सख्ती से पालन होगा. इसके अलावा गुजरात के अहमदाबाद, वडोदरा और सूरत में सख्त लॉकडाउन जारी रहेगा. देश की राजधानी दिल्ली को भी इसी श्रेणी में रखा गया है, जिसके बाद ये तय है कि यहां पर छूट मिलने की संभावना कम है.


मध्य प्रदेश के भोपाल और इंदौर, जबकि पश्चिम बंगाल में हावड़ा और कोलकाता में भी सख्ती से लॉकडाउन का पालन किया जाएगा. बीते कुछ दिनों में राजस्थान में भी कोरोना के मामले तेजी से बढ़ें हैं. यहां जयपुर, जोधपुर, उदयपुर में सख्त लॉकडाउन जारी रहेगा. उत्तर प्रदेश में आगरा और मेरठ, आंध्र प्रदेश के कुरनुल, तेलंगाना के ग्रेटर हैदराबाद, पंजाब के अमृतसर और ओडिशा के बेरहमपुर में सख्त लॉकडाउन जारी रहेगा.

बता दें कि आज दोपहर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गृह मंत्री अमित शाह, गृह सचिव और पीएमओ के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ लॉकडाऊन-4 के दिशा-निर्देंशों पर 2 घंटे से ज्यादा देर तक बैठक की. बैठक में मुख्यमंत्रियों की तरफ से आए सुझावों पर भी चर्चा हुई. बैठक में लॉकडाउन-4 का मसौदा फाइनल हुआ. कल देर रात तक अमित शाह के नेतृत्व में गृह मंत्रालय ने सभी राज्यों से मिले सुझावों पर विचार के बाद दिशा निर्देशों का खाका तैयार किया था, जिसपर पीएम के साथ आज की बैठक में चर्चा हुई.

कोरोना कमांडोज़ का हौसला बढ़ाएं और उन्हें शुक्रिया कहें...

दो हफ्तों के लिए बढ़ाया जा सकता है लॉकडाउन

लॉकडाउन 3.0 की मियाद 17 मई को खत्म हो रही है. पीएम मोदी ने हाल ही में देश के नाम अपने संबोधन में साफ कर दिया था कि लॉकडाउन देश में लागू रहेगा, लेकिन ये कब तक रहेगा ये साफ नहीं था. मिली जानकारी के मुताबकि, सरकार लॉकडाउन को दो हफ्ते के लिए और बढ़ा सकती है. ये 31 मई तक लागू रहेगा. लॉकडाउन में क्या रियायतें मिलेंगी इसकी जानकारी सरकार रविवार को जारी कर सकती है.

देश-दुनिया के किस हिस्से में कितना है कोरोना का कहर? 

लॉकडाउन के चौथे चरण में ऑटो, बस और कैब सर्विस को इजाजत मिल सकती है. हालांकि, कटेनमेंट जोन में इन पर पाबंदी जारी रहेगी. वहीं, रेड जोन को फिर परिभाषित किया जाएगा. ई-कॉमर्स वेबसाइट को गैर जरूरी सामानों की सप्लाई करने की अनुमति मिल सकती है. अब तक जहां ऑफिस और फैक्ट्रियों में 33 फीसदी कर्मचारियों को ही काम करने की इजाजत थी, इसे बढ़ाकर 50 फीसदी किया जा सकता है.

महाराष्ट्र में टूटा कोरोना का रिकॉर्ड, 24 घंटे में 67 मौतें, 1600 से ज्यादा पॉजिटिव

महाराष्ट्र में कोरोना वायरस संक्रमण से मरने वालों का सिलसिला थम नहीं रहा है. बीते 24 घंटे में राज्य में इस घातक वायरस की चपेट में आने से 67 लोगों की मौत हो चुकी है. इनमें अकेले 41 लोगों की मौत मुंबई में हुई है. एक दिन में कोरोना से मरने वालों का यह सबसे बड़ा आंकड़ा है.
महाराष्ट्र में एक दिन में 67 की मौत महाराष्ट्र में एक दिन में 67 की मौत 

corona in maharashtra


पिछले 24 घंटे में 1606 नए केस सामने आए7088 लोग इलाज के बाद अब तक स्वस्थ हुए

महाराष्ट्र में कोरोना वायरस संक्रमण से मरने वालों का सिलसिला थम नहीं रहा है. बीते 24 घंटे में राज्य में इस घातक वायरस की चपेट में आने से 67 लोगों की मौत हो चुकी है. इनमें अकेले 41 लोगों की मौत मुंबई में हुई है. एक दिन में कोरोना से मरने वालों का यह सबसे बड़ा आंकड़ा है.



महाराष्ट्र में पिछले 24 घंटे में 1606 नए केस सामने आए हैं. राज्य सरकार के स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी बयान के मुताबिक महाराष्ट्र में बीते 24 घंटे में 67 संक्रमितों की मौत हो गई. इसके साथ ही मरने वालों का आंकड़ा बढ़कर 1135 हो गया है.


राज्य में कोरोना से संक्रमितों का आंकड़ा 30 हजार के आंकड़े को पार कर गया है. महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़कर 30 हजार 706 हो चुकी है. इनमें अकेले मुंबई में 18 हजार 555 केस शामिल हैं.


मुंबई में पिछले 24 घंटे में 884 नए केस सामने आए हैं. साथ मुंबई में कोरोना से अब तक 696 संक्रमितों की मौत हो चुकी है. मुंबई में पिछले 24 घंटे में 41 लोगों की मौत हुई है. कोरोना से मरने वालों का यह रिकॉर्ड आंकड़ा है. 7088 लोग इलाज के बाद स्वस्थ हुए हैं.

आज की बड़ी खबरे 






corona की india मे बढ़ती रफ्तार आखिर कौन है जिम्मेदार corona की india मे बढ़ती रफ्तार आखिर कौन है जिम्मेदार Reviewed by alok kumar on Saturday, May 16, 2020 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.