मास्क ना पहनने पर गोली मरने का आदेश ,8 राज्यों में तबाही मचा सकता amphan

कोरोना: भारत के पक्ष में आंकड़े, 1 लाख की आबादी पर दुनिया से बेहतर औसत

कोरोना संकट में क्यों चीन-WHO की घेराबंदी में लगे हैं 100 से ज्यादा देश?



चीन की दोस्ती WHO पर अब भारी पड़ने लगी है. चीन का झृठ भी अब एक-एक करके दुनिया के सामने आ रहा है और उसे लेकर विश्वस्वास्थ्य संगठन से सवाल पूछा जा रहा है, क्योंकि एक-दो नहीं बल्कि दुनिया के 116 देशों के निशाने पर आ गया है WHO. इन देशों ने ड्राफ्ट तैयार किया है जिसमें लिखा है कि चीन द्वारा फैलाई गई महामारी की जांच में पारदर्शिता ना रखने के लिए सख्त कार्रवाई होनी ही चाहिए. देखें विशेष में ये रिपोर्ट.
India
Confirmed
102K
Recovered
39,234
Deaths
3,164
around 62,000 active cases

Worldwide
Confirmed
4.81M
Recovered
1.79M
Deaths
319K

मोदी जी गुस्से में

भारत में एक लाख की आबादी पर कोरोना संक्रमितों का औसत 7.1 है. यानी एक लाख की आबादी में यहां 7 लोग ही कोरोना की चपेट में आये हैं. जबकि दुनिया का औसत देखा जाये तो एक लाख की आबादी पर 60 कोरोना मरीज पाये गये हैं.

भारत में एक लाख से ज्यादा कोरोना केसप्रति लाख आबादी पर भारत में 7.1 केसदुनिया में प्रति लाख आबादी पर 60 केस
भारत में कोरोना मरीजों की संख्या एक लाख के पार चली गई है. पिछले एक हफ्ते में कोरोना मरीजों की तादाद में तेजी से इजाफा हुआ है. बावजूद इसके भारत की स्थिति कई मायनों में दुनिया के बाकी मुल्कों से बेहतर है. एक लाख की आबादी पर कोरोना मरीजों की संख्या के लिहाज से देखा जाये तो भारत का औसत दुनिया के बाकी देशों से कहीं ज्यादा बेहतर है.


भारत में एक लाख की आबादी पर कोरोना संक्रमितों का औसत 7.1 है. यानी एक लाख की आबादी में यहां 7 लोग ही कोरोना की चपेट में आये हैं. जबकि दुनिया का औसत देखा जाये तो एक लाख की आबादी पर 60 कोरोना मरीज पाये गये हैं. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने खुद इसकी जानकारी दी है.


मंत्रालय ने ये भी बताया है कि भारत में औसत रेट तो अच्छा है ही, साथ ही कोरोना से ठीक होने वाले मरीजों का रिकवरी रेट भी काफी बेहतर है. मंत्रालय के मुताबिक, रिकवरी रेट 38 प्रतिशत से ज्यादा है यानी हर 100 में करीब 38 मरीज ठीक हो रहे हैं.

कोरोना कमांडोज़ का हौसला बढ़ाएं और उन्हें शुक्रिया कहें...

दुनिया में प्रति लाख आबादी पर कोरोना केस

चीन से निकले कोरोना वायरस ने सबसे ज्यादा तबाही अमेरिका, इटली, फ्रांस, स्पेन और यूके में मचाई है. ये वो बड़े विकसित देश हैं जिन्होंने कोरोना वायरस के सामने घुटने टेक दिये हैं. अमेरिका में हालात अब भी काबू में नहीं आ रहे हैं. अमेरिका में एक लाख की आबादी पर कोरोना मरीजों की संख्या 494 है. जबकि रूस में ये संख्या 195 है.

प्रति लाख आबादी पर कोरोना मरीजों की लिस्ट

यूके- 361 केस/लाख

स्पेन- 494 केस/लाख

इटली- 372 केस/लाख

ब्राजील-104 केस/लाख

जर्मनी- 210 केस/लाख

तुर्की- 180 केस/लाख

फ्रांस- 209 केस/लाख

ईरान- 145 केस/लाख

क्या टेस्ट है वजह?

भारत के लिये जहां औसत केस की संख्या राहत देने वाली है, वहीं दूसरी तरफ कम टेस्टिंग रेट आशंकाओं को भी जन्म देता है. दुनिया के सिर्फ चार देश (मैक्सिको, बांग्लादेश, इंडोनेशिया और मिस्र) ऐसे हैं जिन्होंने आबादी के अनुपात में भारत की तुलना में कम टेस्ट किये हैं. भारत ने अपनी आबादी में सिर्फ 0.15% का ही टेस्ट किया हैं. हालांकि, अब धीरे-धीरे टेस्ट में तेजी आ रही है. सोमवार (18 मई) को पहली बार एक लाख से ज्यादा कोरोना टेस्ट किये गये हैं और अब तक देश में कुल 24 लाख टेस्ट हो चुके हैं.

देश-दुनिया के किस हिस्से में कितना है कोरोना का कहर? यहां क्लिक कर देखें

दुनिया में 48 लाख से ज्यादा केस

19 मई तक पूरी दूनिया में कोरोना मरीजों की संख्या 48 लाख से ज्यादा हो गई है, जबकि मरने वालों का आंकड़ा 3,18,481 हो गया है. भारत की बात की जाये तो यहां कोरोना केस 1,01,139 हो गये हैं और 3163 लोगों की मौत हो चुकी है.

मास्क ना पहनने पर गोली मरने का आदेश 



बंगाल समेत 8 राज्यों में तबाही मचा सकता है साइक्लोन, शाह ने ममता से की बात

Cyclone Amphan Live Tracking: बंगाल की खाड़ी में उठा चक्रवात तूफान अम्फान अब सुपर साइक्लोन में बदल चुका है. जो 20 मई यानी बुधवार को पश्चिम बंगाल के दीघा और बांग्लादेश के हतिया द्वीप के बीच में टकरा सकता है. उस वक्त इसकी हवा की गति 185 किलोमीटर प्रति घंटे हो सकती है.


सुपर साइक्लोन में बदला चक्रवाती तूफान अम्फानबंगाल-ओडिशा के साथ कई तटीय राज्यों में अलर्टतटीय इलाकों में एनडीआरएफ की टीमें तैनात
बंगाल की खाड़ी में उठा चक्रवात तूफान अम्फान अब सुपर साइक्लोन में बदल चुका है. जो अब तेज रफ्तार के साथ पश्चिम बंगाल और ओडिशा की तरफ बढ़ रहा है. मौसम विभाग का अनुमान है कि उफान पर पहुंचकर सुपर साइक्लोन तबाही मचा सकता है. साइक्लोन के खतरे को देखते हुए राज्य सरकारों के साथ-साथ केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार भी एक्टिव हो गई है. गृह मंत्री अमित शाह ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से बात की और उन्हें केंद्र से हर संभव मदद पहुंचाने की बात कही.

इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार शाम को गृह मंत्रालय और एनडीएमए के साथ उच्चस्तरीय बैठक की. इस दौरान सुपर साइक्लोन से निपटने की तैयारियों का जायजा लिया गया. पश्चिम बंगाल और ओडिशा में हालात की गंभीरता को देखते हुए गृह सचिव ने दोनों राज्यों के मुख्य सचिवों से बात की.

मौसम विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक यह चक्रवाती तूफान आज दोपहर से शाम तक बंगाल की खाड़ी से उत्तर-पूर्व की ओर बढ़ सकता है. ये पश्चिम बंगाल-बांग्लादेश के बीच दिग और हटिया द्वीप समूह (बांग्लादेश) के पास सुंदरवन के हिस्सों को पार करता हुआ आगे बढ़ सकता है. इस प्रकार यह अपने भीषण रूप में परिवर्तित होगा. इससे तटिए राज्यों को नुकसान का खतरा है. इन राज्यों के लिए अगले 6 घंटे काफी अहम हैं.

इसके मद्दे नजर मौसम विभाग ने पूर्वी तटों के राज्य तमिलनाडु और पुडुचेरी से लेकर आंध्र प्रदेश, ओडिशा, पश्चिम बंगाल, त्रिपुरा, मिजोरम, मणिपुर और आस-पास के तटीय इलाकों में ऑरेंज अलर्ट जारी किया है. वहीं, ओडिशा के तटीय जिले हाई अलर्ट पर हैं.


पश्चिम बंगाल-ओडिशा में भारी नुकसान की आशंका

वहीं, भारतीय मौसम विभाग (IMD) के महानिदेशक मृत्युंजय महापात्रा ने कहा कि बंगाल की खाड़ी में बने ताकतवर चक्रवाती तूफान अम्फान से पश्चिम बंगाल और ओडिशा के तटीय जिलों में भारी नुकसान हो सकता है. उन्होंने कहा, अम्फान ओडिशा में 1999 में तूफान के बाद दूसरा सुपर साइक्लोन (चक्रवाती तूफान) है. 1999 के सुपर साइक्लोन ने 9 हजार से अधिक लोगों की जान ले ली थी.


उन्होंने कहा कि 700 किलोमीटर तक फैले और लगभग 15 किलोमीटर ऊंचाई वाला चक्रवात अम्फान अपने केंद्र में 220 से 230 किलोमीटर प्रति घंटे की गति से घूम रहा है. जो तेज रफ्तार से उत्तर की ओर बढ़ रहा है, यह ओडिशा के पारादीप से 600 किलोमीटर दक्षिण में, पश्चिम बंगाल के दीघा से 750 किलोमीटर दक्षिण-दक्षिण पश्चिम और बांग्लादेश के खेपुरा से करीब 1000 किलोमीटर दक्षिण-दक्षिण-पश्चिम में केंद्रित है.

Odisha और West Bengal के सामने एक तरफ़ कुआं, दूसरी तरफ़ खाई (BBC Hindi)



पहले ही कोरोना महामारी से जूझ रही ओडिशा सरकार के लिए तूफान ने एक नई मुसीबत खड़ी कर दी है. बंगाल की खड़ी में बना चक्रवाती तूफान ''अंफान'' ने सोमवार दोपहर और गहराकर "सुपर साइक्लोन" में तब्दील हो गया. अक्टूबर 1999 के बाद यह पहला मौका है जब बंगाल की खाड़ी में कोई "सुपर साइक्लोन" बना हो. भारतीय मौसम विभाग (आईएमडी) का कहना है कि तूफान की उच्चतम रफ़्तार 220-240 (अधिकतम 265) किलोमीटर प्रति घंटा तक हो सकती है. हवा की गति 220 किलोमीटर प्रति घंटा या उससे ज्यादा होने पर उसे "सुपर साइक्लोन" का दर्जा दिया जाता है. अनुमान के मुताबिक, आश्वस्त करने वाली बात यह है कि 20 मई की शाम पश्चिम बंगाल के दीघा और बांगलादेश के हातिया द्वीप के तट पर पहुंचते-पहुंचते तूफान की गति काफी कम हो जाएगी. आईएमडी के महानिदेशक डॉ. मृत्युंजय महापात्र ने कहा है कि उत्तरी दिशा में आगे बढ़ते समय तूफान की गति कम हो जाएगी और यह दोबारा "बहुत ख़तरनाक चक्रवाती तूफान" बन जाएगा. तट पर पहुंचते समय इसकी गति केवल 150-165 किलोमीटर रह जाएगी. लेकिन इसके बावजूद तटीय ओड़िशा के 12 जिलों में "अंफान" के कारण मंगलवार से भारी बारिश होगी और तेज हवाएं चलेंगी. भुवनेश्वर मौसम केंद्र के निदेशक एचआर विश्वास ने सोमवार को कहा कि तूफान के प्रभाव से मंगलवार शाम से उत्तरी ओड़िशा के पांच जिलों - केंद्रापाड़ा, जगतसिंहपुर, भद्रक, बालेश्वर और मयूरभंज में भारी बारिश शुरू होगी और तेज हवाएं चलेंगी जो 20 तारीख की सुबह से और तेज हो जाएंगी.

पश्चिम बंगाल-ओडिशा में ऑरेंज अलर्ट जारी

सुपर साइक्लोन के 20 मई को सुंदरबन के करीब दीघा द्वीप और बांग्लादेश के हटिया द्वीप के बीच टकराने की आशंका है. मौसम विभाग ने तटीय पश्चिम बंगाल और ओडिशा के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया है, जहां इससे भारी नुकसान होने की आशंका है.


मौसम विभाग के मुताबिक दक्षिण और उत्तर परगना, पश्चिम और पूर्व मेदिनीपुर, हुगली, हावड़ा और कोलकाता जैसे पश्चिम बंगाल के तटीय जिलों में 19 मई से बारिश शुरू होगी. मौसम विभाग के डीजी ने कहा पश्चिम बंगाल में पूर्वी मिदनापुर, दक्षिण और उत्तर 24 परगना, हावड़ा, हुगल और कोलकाता के इलाकों में तूफान का ज्यादा असर होगा. वहीं ओडिशा में जगतसिंहपुर, केंद्रपाड़ा, भद्रक और बालासोर जिलों पर चक्रवात ज्यादा खतरा मंडरा रहा है. दोनों राज्यों के तटीय इलाकों में रेल और रोड ट्रांसपोर्ट 20 मई तक बंद रखने का फैसला हुआ है.

चक्रवात तूफान को देखते हुए ओडिशा और पश्चिम बंगाल की सरकार ने जरूरी कदम उठाने शुरू कर दिए हैं. पश्चिम बंगाल और ओडिशा सरकार तटीय इलाकों से लोगों को बाहर निकाल कर सुरक्षित जगहों पर पहुंचा रही है.


एनडीआरएफ के डीजी ने कहा कि ओडिशा और पश्चिम बंगाल की तरफ से जो भी मांग की जा रही है, हम उसे पूरा कर रहे हैं. पश्चिम बंगाल में एनडीआरएफ की टीमों को पहले से तैनात कर दी गई हैं. इसके अलावा चार टीमों को तैयार यानी स्टैंड बाई पर रखा गया है. जबकि ओडिशा में 13 टीमें तैनात की गई हैं और 17 स्टैंड बाई पर रखा गया है. साथ ही आर्मी, एयर फोर्स, नेवी और कोस्ट गार्ड की टीमों को भी अलर्ट पर रखा गया है.


तूफान की तेज रफ्तार से तबाही की आशंका

भारत मौसम विभाग (IMD) के मुताबिक चक्रवात अम्फान ने दक्षिण और मध्य बंगाल की खाड़ी के ऊपर तीव्र तूफान का रूप ले लिया है. यह बंगाल की दक्षिण खाड़ी के मध्य भागों में 6 घंटे के दौरान 13 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार के साथ उत्तर/उत्तर-पूर्व की ओर बढ़ गया है. जो 20 मई को पश्चिम बंगाल, ओडिशा और बांग्लादेश के तटों से टकराएगा. इस दौरान हवा की गति करीब 155-165 किमी प्रति घंटा होगी. तूफान की तीव्रता के कारण भारी नुकसान का अनुमान है.


मछुआरों को समंदर किनारे ना जाने की चेतावनी


मौसम विभाग की ओर से मछुआरों को 20 तारीख तक ओडिशा और बंगाल के तटों के समंदर किनारे ना जाने की सलाह दी गई है. एसडीएमए ने भूस्खलन की संभावना वाले इलाकों और नदी के किनारे व तटीय क्षेत्रों में रहने वाले लोगों को सतर्क रहने के लिए कहा है. साथ ही मछुआरों को चेतावनी दी गई है कि वे समंदर किनारे या मछली पकड़ने न जाएं.

बंगाल-ओडिशा के साथ इन राज्यों में भी होगा 'अम्फान' का असर, अलर्ट जारी


तूफान अम्फान को लेकर केरल के 13 जिलों में येलो अलर्ट

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने सोमवार को चक्रवाती तूफान 'अम्फान' के कारण केरल में भारी बारिश का अनुमान जाहिर किया है. इसके बाद राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एसडीएमए) ने आज यानी मंगलवार के लिए 9 जिलों में येलो अलर्ट जारी कर दिया है. येलो अलर्ट का मतलब है कि लोगों और अधिकारियों को सतर्क रहना होगा, क्योंकि राज्य में भारी बारिश की उम्मीद की जा रही है.

कई राज्यों में भारी बारिश का अनुमान, ऑरेंज अलर्ट जारी

मौसम पूर्वानुमान एजेंसी स्काईमेट के मुताबिक केरल, तटीय कर्नाटक और दक्षिणी तमिलनाडु के कुछ हिस्सों में मध्यम से भारी बारिश जारी रहने की उम्मीद है. आंतरिक तमिलनाडु, आंतरिक कर्नाटक, मध्य महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़ के कुछ हिस्सों, पश्चिम बंगाल, ओडिशा और उत्तर पूर्वी राज्यों में कुछ स्थानों पर बारिश के आसार हैं. चक्रवाती तूफान अम्फान का असर देश के 8 राज्यों पर पड़ सकता है. जिसे लेकर कई राज्यों में अलर्ट जारी किया गया है. मौसम विभाग ने चक्रवाती तूफान की आशंका को देखते हुए पूर्वी तटों के राज्य तमिलनाडु और पुडुचेरी से लेकर आंध्र प्रदेश, ओडिशा, पश्चिम बंगाल, त्रिपुरा, मिजोरम, मणिपुर और आस-पास के तटीय इलाकों में ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है. वहीं, ओडिशा के तटीय जिले हाई अलर्ट पर हैं.

यूपी के संभल में समाजवादी पार्टी के नेता और उनके बेटे की हत्या

उत्तर प्रदेश का संभल. यहां पर दलित नेता छोटे लाल दिवाकर और उनके बेटे की गोली मार कर हत्या कर दी गई है. छोटे लाल, समाजवादी पार्टी से थे और चंदौसी से विधानसभा चुनाव लड़ चुके थे. उनकी पत्नी गांव की प्रधान हैं. पत्नी का ज्यादातर काम छोटेलाल दिवाकर ही देखते थे.

पुलिस क्या कह रही?

मामले पर संभल पुलिस ने कहा है कि टीमें गठित कर अभियुक्तों की गिरफ्तारी के लिए कोशिश की जा रहे है. घटनास्थल पर उच्चाधिकारीगण मौजूद हैं. कानूनी कार्रवाई की जा रही है. संभल पुलिस अधीक्षक ने मामले को लेकर बताया,

गांव में मनरेगा की सड़क को लेकर हुए विवाद में एक पक्ष के लोगों द्वारा दूसरे पक्ष के पिता-पुत्र को गोली मारकर हत्या कर दी गई है. घटना स्थल पर उच्चधिकारीगण मौजूद है. शवों को कब्जे में लेकर अग्रिम विधिक कार्रवाई की जा रही है.

मास्क ना पहनने पर गोली मरने का आदेश ,8 राज्यों में तबाही मचा सकता amphan  मास्क ना पहनने पर गोली मरने का आदेश ,8 राज्यों में तबाही मचा सकता amphan Reviewed by alok kumar on Tuesday, May 19, 2020 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.