कोई भी "सरकार" के "भरोसे" ना रहे ! 🙄🙄 "सरकार" खुद "शराबियो" के भरोसे है !!

कोई भी "सरकार" के "भरोसे" ना रहे ! 🙄🙄
"सरकार" खुद "शराबियो" के भरोसे है !!
🤔🤔


आज पता चला :
शराबी तो दिव्यात्मा हैं...
जब फ्री में पीते हैं, तो सरकार बदल देते हैं ,और जब खरीदकर पीते हैं
तो अर्थव्यवस्था। 🤩😍
बाहुबली 2 ने पहले दिन पूरे भारत में 122 करोड़ कमाए थे।
दारू ने पहले दिन सिर्फ उत्तर प्रदेश में 300 करोड़ कमाए 

अभी तक के कोरोना मामले 

भारत में 
Confirmed
49,400
Recovered
14,142
Deaths
1,693

पूरी दुनिया में 
Confirmed
3.73M
Recovered
1.2M
Deaths

258K

पूरी 6 बोतल पियूँगी आज तो 😁😁⁉⁉


अब सड़कों पे भी झूमने लगे हैं शराबी 

बारिश, ओले भी इन शराब प्रेमियों के कदम डिगा नहीं सके!

 बारिश, ओले के बीच छाते लगा-लगाके जियाले जमे हैं. दाईं ओर बीच रण में दारू के लिए ‘चौकड़ी’ भरता एक ‘चेतक’.
नैनीताल में लॉकडाउन में करीब 40 दिनों के बाद 5 मई को शराब की दुकानें खुलीं. आस लगाए लोग दुकानों पर पहुंचे ही थे कि भयंकर बारिश और ओले गिरने शुरू हो गए. लगा कि जियालों के पैर उखड़ जाएंगे. लेकिन मज़ाल थी! सारे शौकीन इस कदर दुकानों के सामने डटे रहे कि मानो आज ही शराब खत्म होने जा रही है.


नैनीताल में पानी गिर रहा था. जबरदस्त ओला पड़ रहा था. लेकिन शराब के शौकीनों ने पैर नहीं हिलने दिए. 4 मई को उत्तराखंड और 5 मई को नैनीताल में शराब की दुकानें खुलने के बाद जब घंटे भर पानी बरसा, लोग तब भी ठेके के सामने से नहीं डिगे.

नैनीताल में पहली बार शराब की दुकान खुलीं, तो लोग सुबह सात बजे से ही शराब खरीदने के लिए लाइन में लग गए.

तीसरे चरण में कुछ छूट दी गई है

दरअसल 4 मई से लॉकडाउन का तीसरा चरण शुरू हुआ. इसमें कई जगहों पर शराब की दुकानें खोलने की इजाज़त दी गई है. लेकिन सभी बेसिक कोरोना प्रोटोकॉल, जैसे सोशल डिस्टेंसिंग वगैरह के साथ. ये भी कहा गया है कि एक बार में दुकान के भीतर पांच लोग ही रह सकेंगे.

इससे पहले दिल्ली में भी जब 4 मई को शराब की दुकानें खुलीं, तो भयंकर भीड़ टूट पड़ी थी. कोई सोशल डिस्टेंसिंग नहीं. कोई कोरोना प्रोटोकॉल नहीं. दोपहर होते-होते ही दिल्ली सरकार ने कह दिया कि सारी दुकानें बंद करो. हालांकि इसके बाद दिल्ली सरकार ने 4 मई की रात को ही शराब पर 70% टैक्स लगाने का ऐलान कर दिया.

वैसे, दिल्ली और नैनीताल की भीड़ में एक बड़ा अंतर रहा. दिल्ली में जहां लोग एक के ऊपर एक लदे जा रहे थे, वहीं नैनीताल में सोशल डिस्टेंसिंग का ख़याल रखा गया



बेटा प्यार ही पूजा है और ये पूजा अभी कर लो इसका कोई टाइम नहीं होता 



पुलिस इन्स्पेक्टर ने अपनी आइडी नहीं दिखाई क्यों 

इंदौर में लोगों को बेरहमी से पीटते हुए पुलिस वालों के इस वायरल वीडियो की सच्चाई क्या है?


मध्य प्रदेश का इंदौर. कोरोना वायरस का हॉट स्पॉट बना हुआ है. 1500 से ज्यादा पॉजिटिव मामले सामने आ चुके हैं. लॉकडाउन अभी भी जारी है. इसी के साथ जारी है पुलिस की सख्ती. पत्रकार राहुल कारिया ने जानकारी दी कि दो दिन पहले इंदौर की गुलज़ार कॉलोनी में पुलिस ने जमकर लाठियां बरसाई. सोशल मीडिया पर कुछ वीडियो भी वायरल हुए. ये बोलकर शेयर किया गया कि वो इंदौर पुलिस के हैं.

कोई भी "सरकार" के "भरोसे" ना रहे ! 🙄🙄 "सरकार" खुद "शराबियो" के भरोसे है !! कोई भी "सरकार" के "भरोसे" ना रहे ! 🙄🙄  "सरकार" खुद "शराबियो" के भरोसे है !! Reviewed by alok kumar on Tuesday, May 05, 2020 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.