मरीज बढ़ने से Lockdown-4 कैसा रहेगा

लगातार कोरोना मरीज बढ़ने से Lockdown-4 कैसा रहेगा



विभिन्न राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ पांचवीं बार बैठक करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्पष्ट किया है कि देश को दो उद्देश्यों को हासिल करना है. एक तो कोरोना वायरस के संक्रमण की दर को कम करना है और दूसरे धीरे धीरे आम लोगों की गतिविधियों को बढ़ाना है. उन्होंने यह भी कहा कि इन दोनों उद्देश्यों को हासिल करने के लिए केंद्र और राज्य सरकारों को मिल कर काम करना होगा. इसके अलावा प्रधानमंत्री ने राज्यों के मुख्यमंत्रियों से 15 मई तक अपने अपने राज्यों में लॉकडाउन की स्थिति को लेकर अपनी अपनी रणनीति देने को कहा है. समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक नरेंद्र मोदी ने मुख्यमंत्रियों से कहा, "मैं आप लोगों से अनुरोध करता हूं कि आप लोग अपने अपने राज्य में लॉकडाउन को हटाने की स्थिति में क्या रणनीति अपनाएंगे, इसको लेकर विस्तृत रणनीति शेयर कीजिए. लॉकडाउन में ढील देने पर विभिन्न चुनौतियों को लेकर आप लोग अपना अपना ब्लू प्रिंट तैयार करें." उन्होंने ट्रेन सेवा शुरू करने के बारे में कहा कि आर्थिक गतिविधि शुरू करने के लिए यह ज़रूरी क़दम है लेकिन उन्होंने स्पष्ट किया कि सभी मार्गों पर अभी रेल सेवा शुरू नहीं होगी और केवल सीमित ट्रेनें चलेंगी


सोमवार को मुख्यमंत्रियों के साथ जब प्रधानमंत्री मिले तो उन्होंने लॉकडाउन-4 का संकेत दिया. इस बैठक में प्रधानमंत्री ने कहा कि मेरा ये मानना है कि दूसरे चरण के दौरान लॉकडाउन के पहले चरण में आवश्यक उपायों की जरूरत नहीं थी. इसी तरह तीसरे चरण में जरूरी उपायों की चौथे में जरूरत नहीं है.




इलाज करा रहे मरीज़ों के साथ ही कुछ मरीज़ों के शव रखे हुए हैं. 

मुंबई का सायन अस्पताल. बीते दिनों यहां का एक वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें दिख रहा था कि इलाज करा रहे मरीज़ों के साथ ही कुछ मरीज़ों के शव रखे हुए हैं. अब इसी तरह का एक और वीडियो सामने आया है. ये मुंबई के ही KEM अस्पताल का है. बीजेपी विधायक नितेश राणे ने इसे ट्वीट किया. लिखा,


‘KEM अस्पताल में आज सुबह 7 बजे का दृश्य. मुझे लगता है कि BMC चाहती है कि इलाज के दौरान हम अपने आस-पास शवों को देखने के आदी हो जाएं, क्योंकि वो सुधार लाना ही नहीं चाहते. उन हेल्थ वर्कर्स के लिए भी बुरा लग रहा है, जिन्हें ऐसे हालात के बीच काम करना पड़ रहा है. क्या यहां कोई उम्मीद है?’

‘इंडिया टुडे’ ने 9 मई के दिन हेमंत देशमुख से बात की थी. तब उन्होंने कहा था,

‘दिन-रात मरीज़ आ रहे हैं. हम पर मरीज़ों का बहुत लोड आ रहा है. कैजुअल्टी वॉर्ड में सिवियर एक्यूट रेस्पिरेटरी इलनेस (SARI) के मरीज़ आ रहे हैं. हम उनका स्वैब सैंपल ले रहे हैं. टेस्ट हो रहा है. रिपोर्ट के आधार पर उन्हें या तो COVID पॉजिटिव वॉर्ड में या फिर COVID निगेटिव वॉर्ड में शिफ्ट किया जा रहा है.’

सायन अस्पताल में भी बहुत से मरीज़ ज़मीन पर रह रहे हैं. उन्हें बिस्तर नहीं मिल रहा है. कुछ व्हीलचेयर पर हैं. इन सबके बीच मरीज़ों के बीच शव भी रखे हुए हैं. BMC ने सायन मामले में वायरल हो रहे वीडियो की सत्यता की जांच के आदेश दे दिए हैं. सायन और KEM, दोनों ही अस्पताल BMC के हैं

मरीज बढ़ने से Lockdown-4 कैसा रहेगा  मरीज बढ़ने से Lockdown-4 कैसा रहेगा Reviewed by alok kumar on Tuesday, May 12, 2020 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.