चीन को जवाब देने की तैयारी?

चीन को जवाब देने की तैयारी? फोन कर ट्रंप ने PM मोदी को दिया G-7 का न्योता

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के बीच मंगलवार को फोन पर बातचीत हुई. इस दौरान डोनाल्ड ट्रंप ने पीएम मोदी को जी-7 सम्मेलन के लिए न्योता दिया. राष्ट्रपति ट्रंप ने भारत को जी-7 में शामिल करने की भी इच्छा जताई.




पीएम मोदी और डोनाल्ड ट्रंप के बीच फोन पर हुई बातचीतकोरोना वायरस, WHO, G-7 को लेकर हुई बात

चीन से जारी तनाव के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से फोन पर बात की. इस दौरान डोनाल्ड ट्रंप ने पीएम मोदी को जी-7 सम्मेलन के लिए न्योता दिया. राष्ट्रपति ट्रंप ने भारत को जी-7 में शामिल करने की भी इच्छा जताई. दोनों नेताओं के बीच कोरोना महामारी, विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) में सुधार और जी-7 को लेकर बात हुई. पीएम मोदी और डोनाल्ड ट्रंप के बीच भारत और चीन के बीच जारी विवाद को लेकर भी चर्चा हुई.

पीएम मोदी ने भी कहा कि कोरोना के बाद के समय में इस तरह के मजबूत संगठन (जी-7) की जरूरत है. पीएम ने कहा कि इस सम्मेलन की सफलता के लिए अमेरिका और अन्य देशों के साथ मिलकर काम करना प्रसन्नता का विषय है. प्रधानमंत्री मोदी ने अमेरिका में जारी हिंसा को लेकर चिंता व्यक्त की और स्थिति के जल्द ठीक होने की कामना की.


बता दें कि इस समय अमेरिका में कई शहरों में हिंसक प्रदर्शन हो रहे हैं. अमेरिका में जॉर्ज फ्लॉयर्ड नाम के अश्वेत की मौत के बाद वहां हिंसा भड़क उठी. वाइट हाउस तक हिंसा पहुंचने के बाद डोनाल्ड ट्रंप को बंकर में छिपाना पड़ा था.


चीन के साथ विवाद पर भी बातचीत

पीएम मोदी और डोनाल्ड ट्रंप के बीच भारत और चीन के बीच जारी विवाद को लेकर भी चर्चा हुई. डोनाल्ड ट्रंप ने हाल ही में भारत और चीन के बीच मध्यस्थता को लेकर प्रस्ताव रखने की बात की थी. ट्रंप की इस पेशकश को भारत और चीन ने खारिज कर दिया था.

कोरोना कमांडोज़ का हौसला बढ़ाएं और उन्हें शुक्रिया कहें...

राष्ट्रपति ट्रंप ने बातचीत के दौरान इस साल फरवरी में अपनी भारत यात्रा को भी याद किया. उन्होंने भारत में हुए शानदार स्वागत का जिक्र किया. इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि यह यात्रा यादगार और ऐतिहासिक रही है. इसने द्विपक्षीय संबंधों में नई गतिशीलता भी जोड़ी है.

दोनों नेताओं में विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) में सुधार और कोरोना वायरस को लेकर भी बातचीत हुई. बता दें कि हाल ही में अमेरिका ने विश्व स्वास्थ्य संगठन से हटने का ऐलान किया था. डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि WHO पूरी तरह से चीन के नियंत्रण में है. WHO बदलाव की प्रक्रिया शुरू करने में नाकाम रहा और अमेरिका विश्व स्वास्थ्य संगठन से अपना रिश्ता खत्म करेगा.



पीएम मोदी और डोनाल्ड ट्रंप के बीच ऐसे समय बातचीत हुई जब चीन का भारत और अमेरिका के साथ विवाद चल रहा है. अमेरिका कोरोना वायरस के लिए चीन को जिम्मेदार ठहरा रहा है. अमेरिका का कहना है वुहान के लैब से ही कोरोना पूरी दुनिया में फैला. वहीं, लद्दाख में LAC के पास भारत और चीन के बीच करीब एक महीने से तनाव जारी है. चीन की हर साजिश का भारत मुंहतोड़ जवाब दे रहा है. दोनों नेताओं की बातचीत से चीन को मिर्ची लगनी तय है. 

निसर्ग तूफान को लेकर अलर्ट पर NDRF, महाराष्ट्र में 20 टीमें तैनात
मुंबई समेत पूरा महाराष्ट्र निसर्ग की मुसीबत से निपटने के लिए तैयार है. 
राहत और बचाव कार्य के लिए एनडीआरएफ ने पूरे महाराष्ट्र में 20 टीमों को तैनात किया है. मुंबई में 8 टीमें, रायगढ़ में 5 टीमें. पालघर में 2 टीमें, ठाणे में 2 टीमें तैनात हैं.
निसर्ग तूफान के कारण तटीय इलाकों में हो रही है बारिश 


आज दस्तक देगा तूफान निसर्गउड़ानें रद्द, एनडीआरएफ-सेना अलर्टकई इलाकों में जोरदार बारिश

मुंबई के लिए आज का दिन बेहद भारी है. यहां तूफान निसर्ग 120 की तूफानी स्पीड से दस्तक देने वाला है. उससे पहले ही लगातार बारिश हो रही है. समंदर में तूफान के समय 6 फीट ऊंची लहरें उठ सकती हैं, हालांकि मुंबई समेत पूरा महाराष्ट्र निसर्ग की मुसीबत से निपटने के लिए तैयार है.

राहत और बचाव कार्य के लिए एनडीआरएफ ने पूरे महाराष्ट्र में 20 टीमों को तैनात किया है. मुंबई में 8 टीमें, रायगढ़ में 5 टीमें. पालघर में 2 टीमें, ठाण में 2 टीमें, रत्नागिरी में 2 टीमें और सिंधुदुर्ग में एक टीम की तैनाती की गई है. इसके साथ ही आज तड़के ही लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया जा चुका है.

मुंबई में आज 120 की रफ्तार से दस्तक देगा निसर्ग, उड़ानें रद्द, सीएम ने की घर में रहने की अपील

गौरतलब है कि दो हफ्ते में देश को दूसरे समुद्री तूफान का सामना करना पड़ रहा है. पहले अम्फान ने पश्चिम बंगाल और ओडिशा में तबाही मचाई, अब महाराष्ट्र और गुजरात में तबाही मचाने के लिए अरब सागर में एक और तूफान उठा है. इस तूफान का नाम है निसर्ग, जिसकी लहरें मुंबई पर भारी चोट पहुंचा सकती हैं.

चक्रवात निसर्ग को लेकर अलर्ट पर मुंबई, आवाजाही पर लगाई गई रोक

अरब सागर में उठा निसर्ग अब चक्रवाती तूफान में बदल चुका है. इसके दोपहर या शाम तक अलीबाग में तट से टकराने की उम्मीद है, जो मुंबई से 94 किलोमीटर दूर है, लेकिन मुंबई पर इसका भारी असर होना तय है. 100 से 120 किमी. प्रति घंटे की तूफानी हवाएं और समंदर में उठने वाली 6 फीट ऊंची लहरें मुंबई को फिर से पानी-पानी कर सकती है.

मुंबई में तूफान से निपटने और जान माल के नुकसान को रोकने के लिए पक्के इंतजाम किए गए हैं. मुंबई में धारा 144 लगाई गई है. लोगों से सैर-सपाटे के लिए समुद्री तटों पर नहीं जाने को कहा गया है. पार्कों में जाने पर रोक है. लोगों से घरों में रहने की अपील की गई है.

कोरोना की मार के बीच महाराष्ट्र में 'निसर्ग' का संकट, उद्धव ठाकरे बोले- लोग घरों में रहें

एनडीआरएफ, दमकल और सेना को अलर्ट पर रखा गया है. तटीय इलाकों से करीब 10 हजार लोगों को सुरक्षित ठिकानों पर ले जाया गया है. सिंधुदुर्ग और रायगढ़ जिलों में भी हाई अलर्ट घोषित किया गया है. मौसम विभाग के मुताबिक. दमन, दीव और दादर नागर हवेली में तूफान का असर सबसे ज्यादा रहेगा.



चीन को जवाब देने की तैयारी? चीन को जवाब देने की तैयारी? Reviewed by alok kumar on Tuesday, June 02, 2020 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.